संजीव जीवन परिचय | Biography of Sanjeev

संजीव जी कौन थे? कहां के रहने वाले थे ? उनके माता-पिता कहां पर रहते थे? आज हम इन सब के बारे में जानेगे….

जन्म सन 1947 में

ग्राम बांगरकला जिला सुल्तानपुर उत्तर प्रदेश में सन 1947 में संजीव का जन्म हुआ था संजीवनी बी एससी और ए आई सी की शिक्षा प्राप्त की समकालीन कहानी लेखन में संजीव एक प्रमुख नाम है उनके कहानियां अधिकतर हंस में प्रकाशित कोई यार ए सेंट्रल ग्रोथ वर्क्स सेल कुल्टी भारतीय इस्पात प्राधिकरण में कार्यरत है

संजीव जीवन परिचय | Biography of Sanjeev

संजीव की रचनाएं

संजय को साहित्य की लगभग सभी विद्याओं में समान अधिकार प्राप्त है लेकिन इनको प्रसिद्धि कहानीकार के रूप में ही मिली है इनके द्वारा रचित प्रमुख रचनाएं हैं 30 साल का सफरनामा आप यहां हैं भूमिका और अन्य कहानियां दुनिया के सबसे हसीन औरत प्रेत मुक्ति कहानी संग्रह आदि इन्होंने एक किशोर उपन्यास रानी की सराय तथा किशनगढ़ की सर्कस सावधान नीचे आ गया धार आदि उपन्यास भी लिखे हैं

साहित्यिक विशेषताएं

संजीव ने अपने सत्य में आंचलिकता पर विशेष बल दिया है मुहावरे तथा लोकोक्तियां का प्रयोग पतरानुकूल तथा विषय के अनुसार किया गया है उनके लेखन में शब्द विन्यास तथा वाक्य संरचना पर विशेष ध्यान दिया गया है

भाषा शैली

संजय के भाषा शैली प्रोजेक्ट आम बोलचाल के काफी नजदीक है अंचल 1 शब्दों एवं वाक्यों का प्रयोग सेहज ही जान पड़ता है जो कथानक को बांधने में सफल रहा है कमरों में क्षेत्रीय पास आओगे अधिकाधिक प्रयोग से इनकी कहानियां सिर्फ सिर्फ और पाठक को अपनी और आकृष्ट करने में सफल हुए हैं इन्होंने सब विन्यास और वाक्य संरचना में सजता स्पष्टता चित्रात्मकता का विशेष ध्यान रखा है इनके भाषा सूक्ष्म मनोभाव को व्यक्त करने वाले तथा भावानुकूल है

Leave a Comment

Your email address will not be published.