रेलवे स्टेशन का दृश्य |Railway Station View

रेलवे स्टेशन का दृश्य: आज के युग में विज्ञान ने अनेक क्षेत्रों में प्रगति की है। आज यातायात के अनेकानेक साधन विज्ञान ने ही हमें उपलब्ध कराए हैं। कार बस साइकिल से लेकर रेल वायुयान आदि तक अनेक प्रकार के यातायात के साधनों ने दूरी को कम कर दिया है। यातायात के इन साधनों में रेल ही सबसे अधिक सुलभ एवं उपयोगी है।
आज रेल विभिन्न नगरों और प्रदेशों को जोड़ने वाली है। भारत में आज रेलों का जल सा बिछा है। रेलों के ठहरने का स्थान स्टेशन है। जिस स्थान पर रेलवे तहरती है उस चबूतरे को प्लेटफार्म कहा जाता है।

रेलवे स्टेशन का दृश्य | Railway Station View
रेल के प्लेटफार्म पर यात्रियों के लिए अनेक प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध रहती हैं। यात्रियों के बैठने के लिए बेंचे पीने के लिए पानी सोच आदि के लिए शौचालय खाने पीने की वस्तुएं बेचने के स्टाल पत्र पत्रिकाओं के स्टाल पूछताछ कार्यालय अमानती सामान घर विश्रामालय प्रतीक्षालय तार घर भोजनालय आदि अनेक सुविधाएं उपलब्ध रहती हैं।

गाड़ी में सामान लादने के लिए ट्रालियां आदि भी प्लेटफार्म पर उपलब्ध रहती हैं। रेलवे प्लेटफार्म पर जितने भी सामान बेचने वाले तथा भार ढोने वाले कुली होते हैं वह सभी लाइसेंस वाले होते हैं उन्हें रेल विभाग द्वारा स्वीकृति मिली होती है।
रेलवे प्लेटफार्म पर गाड़ियों में चढ़ने उतरने वालों की भीड़ लगी रहती है गाड़ी के आते ही प्लेटफार्म का दृश्य रखने लायक होता है।

रेलवे स्टेशन का दृश्य

रेलवे स्टेशन का दृश्य: धक्का-मुक्की बीडी पान सिगरेट चाय कॉफी तथा अन्य सामान बेचने वालों का शोर कुलियों का इधर से उधर आना जाना तथा डिब्बों में चढ़ते उतरते समय आपा धापी दिखाई पड़ती है। अभिवादन कहे कहकहे, नमस्ते तथा अन्य कई प्रकार के स्वर सुनाई पड़ते हैं। रेलवे प्लेटफार्म पर लगे ध्वनि विस्तारक यात्रियों से गाड़ियों के आने जाने संबंधी सूचनाएं हिंदी तथा अंग्रेजी में प्रसारित की जाती हैं

ताकि किसी भी यात्री को किसी प्रकार की असुविधा न हो। प्लेटफार्म पर कुछ भिखारी भीख मांगते रहते हैं प्लेटफार्म पर रेल के आते ही टिकट निरीक्षकों की टोली आने वाले यात्रियों की टिकटों की जांच करती है गाड़ी आते ही चाय की ट्रालियों और पानी के नलों पर भीड़ लग जाती है। प्लेटफार्म पर जाने के लिए प्लेटफॉर्म टिकट लेना पड़ता है

बिना प्लेटफार्म टिकट लिए प्लेटफार्म पर जाना दंडनीय अपराध है। कभी-कभी गाड़ी मैं चढ़ते समय यात्रियों की धक्का-मुक्की में जेब कतरे अपना करिश्मा दिखा जाते हैं। अतः रेलवे प्लेटफार्म पर अपनी जेबों का ध्यान रखना चाहिए।
गाड़ी के चले जाने पर भीड़-भाड़ से भरा वहीं प्लेटफार्म सूना सा लगता है। उस पर केवल वही यात्री रह जाते हैं जिन्हें अगली गाड़ी से जाना होता है बड़े बड़े रेलवे स्टेशनों पर एक ही समय में अनेक गाड़ियां आती जाती रहती हैं। भीड़ भाड़ तथा कोलाहल का दृश्य वहां सदा उपस्थित रहता है।

Name  रेलवे स्टेशन का दृश्य | Railway Station View
Year 2022
Go To Home Page  Click Here

Leave a Comment

Your email address will not be published.